अपार्टमेंट के दो कमरों से हुई थी बिजनेस की शुरुआत, आज बन चुकी है 7 हजार करोड़ रुपये की मालकिन

0
161

उद्यमिता के क्षेत्र में पारिवारिक पृष्ठभूमि न होने के बावजूद, वह जोखिम लेने से कभी नहीं डरती थीं. उनका अपना सकारात्मक रवैया उन्हें प्रेरित करता रहा और उपासना टाकू देश की पहली मोबाइल वॉलेट कंपनी ‘मोबिक्विक’ की सह-संस्थापक बन चुकी है.

ये है देश का पहला मोबाइल वॉलेट, जो अब एक वित्तीय सेवा मंच में तब्दील हो गया है. वर्तमान में इसका यूजर बेस लगभग 110 मिलियन है, जिसे 250 मिलियन तक पहुंचाने का लक्ष्य है. उपासना कहती हैं, मैं हमेशा सकारात्मक ही रहने की कोशिश करती होती हूं और सभी को भी यही सलाह देती हूं.

ऐसे हुआ था मोबाइल पेमेंट वॉलेट शुरू
उपासना कहती हैं, एक दिन मैं एक दोस्त के जरिए बिपिन से मिली. वह एक स्टार्टअप शुरू करना चाहते थे. मेरी भी भारत में पेपैल के मोबाइल वॉलेट सिस्टम की तरह कुछ नया करने की इच्छा थी. कैसे करना है यह स्पष्ट नहीं था. मैंने बिपिन को उनके कारोबार में मदद करने का फैसला किया. फिर फरवरी 2010 में अपने आइडिया पर विश्वास हुआ और मैं बिपिन के स्टार्टअप मोबिक्विक में सह-संस्थापक के रूप में शामिल हो गई.

सीमित विकल्पों के चलते ज्यादातर लोग 10-10 रुपये मोबाइल फोन के रिचार्ज पर खर्च करते थे. उन्हें नहीं पता था कि नकदी से परे लेनदेन हो सकता है. मोबाइल वॉलेट की उपयोगिता की बिलकुल भी जानकारी नहीं थी इस वजह से हमने सबसे पहले ‘मोबिक्विक’ को रिचार्ज प्लेटफॉर्म के रूप में लॉन्च किया, जो बहुत जल्द ही मोबाइल वॉलेट में तब्दील हो चूका था.

अपार्टमेंट के दो कमरों हुआ था काम शुरू

मुझे लगता है कि अपना स्टार्टअप शुरू करने में अलग-अलग चुनौतियां हैं. हमने अपने अपार्टमेंट के दो कमरों में इस काम को शुरू करा था. वो मेरा घर ही था. वह दौर था जब हमें अपना बिजनेस आइडिया साबित करना था शुरुआत में, जब मैं मोबिक्विक के वित्त को संभाल रही थी, तो खुद को साबित करना एक चुनौती थी.

बड़े सपने देखें महिला एंटरप्रेन्योर्स
आज चीजें थोड़ी बदल चुकी हैं. निवेशक अब उद्यम में निवेश कर रहे हैं. उन्होंने महसूस किया है और मानते हैं कि महिलाएं मेहनती हैं. और कंपनी को ऊंचाइयों तक ले जाने की क्षमता रखती हैं. यही बात मैं महिला उद्यमियों से कहना चाहूंगी कि बड़े सपने देखें. अपने विचारों, प्रतिभाओं, ज्ञान को पूरे विश्वास के साथ दुनिया तक पहुँचाएँ हमेशा अपने दिल की सुनें और दुनिया को दिखाएं. अपने दिल की ही हमेशा सुनें और पूरी दुनिया को जीत कर दिखा दें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here