उधार लेकर शुरू किया था बिजनेस, ख़रीदा 100 करोड़ का हेलीकाप्टर; आज है 18 हजार करोड़ रुपये के मालिक

0
158

रवि पिल्लई ने अभी हाल ही में ऐसा रिकॉर्ड बनाया है जो की उनकी दौलत को बयां करता है. पिल्लई एयरबस एच145 हेलीकॉप्टर के पहले भारतीय मालिक बन चुके हैं. 68 वर्षीय अरबपति रवि पिल्लई ने इस हेलीकॉप्टर को 100 करोड़ रुपये में खरीदा है. रवि पिल्लई जिस अत्याधुनिक हेलीकॉप्टर को लेकर चर्चा में हैं, उसकी विशेषताएं नवीनतम हैं.

यह हेलीकॉप्टर 7 यात्रियों और पायलट को ले जाने की क्षमता रखता है. इसके साथ ही यह हेलीकॉप्टर समुद्र तल से 20,000 फीट की ऊंचाई से उड़ान भरने और उतरने में सक्षम है. रवि पिल्लई आज भी 100 करोड़ का हेलीकॉप्टर खरीदने को लेकर चर्चा में हैं. मगर यह धन उनको थाली में परोसा हुआ नहीं मिला था. इस सफलता के पीछे उनकी मेहनत और लगन का सबसे बड़ा हाथ रहा है.

उधार लेकर शुरू करा था कारोबार

हमेशा से ही रवि पिल्लई अपना खुद का बिजनेस करना चाहते थे. उन्होंने इसे उसी समय शुरू कर दिया था जब वे कोच्चि विश्वविद्यालय में पढ़ाई कर रहे थे. इसी दौरान ही उन्होंने एक करजा देने वाले स्थानीय व्यक्ति से एक लाख रुपये उधार लिए और अपनी चिट-फंड कंपनी की शुरुआत कर दी. उसने अपने व्यवसाय से पैसा कमाकर अपना कर्ज चुकाया और लाभ के पैसे जमा करते रहें. इसके बाद उन्होंने अपनी कंस्ट्रक्शन कंपनी की शुरुआत कर दी.

वेल्लोर हिंदुस्तान न्यूजप्रिंट फैक्ट्री से ठेका मिलने पर उन्हें बड़ा झटका लगा लेबर की समस्या के कारण उन्हें अपनी यूनिट को भी बंद करनी पड़ गई थी. मगर पिल्लई ने हार नहीं मानी. पिल्लई भारत छोड़कर सऊदी अरब में चले गए वहां उन्होंने कंस्ट्रक्शन और ट्रेडिंग का बिजनेस शुरू कर दिया. उन्होंने जल्द ही नासिर एस अल हाजरी नाम से अपनी खुद की निर्माण कंपनी शुरू कर ली.

पिल्लई का कंस्ट्रक्शन व्यवसाय कई गुना फला-फूला क्योंकि एनएसएच को फ्रांस की एक एयरक्राफ्ट कंपनी के लिए हैंगर कंस्ट्रक्शन जैसे बड़े ठेके मिलने लगे थे. इसके साथ ही उनकी कंपनी एक और बड़ा काम रॉयल टर्मिनल भी बना रही थी. यह ठेका 50 मिलियन डॉलर का था.

आज है सफलता के शिखर पर हैं

रवि पिल्लई की विभिन्न कंपनियों में आज के समय में लगभग 70,000 से भी ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं. इसके साथ ही वह अभी 2.5 अरब डॉलर के मालिक भी हैं. उनकी दौलत का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि उनकी बेटी की शादी में लगभग 42 देशों के करीब 30,000 मेहमान शामिल हुए थे. फोर्ब्‍स मैगजीन ने रवि पिल्लई को दुनिया के 1000 अरबपतियों की सूची में शामिल भी करा हुआ है. इसके साथ ही उन्हें केरल का सबसे अमीर व्यक्ति माना जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here