कभी दादाजी के साथ कपडे बेचते थे, शुरू किया बिजनेस; आज है 18 हजार करोड़ रुपये के मालिक

0
95

लोगों को फैशन सिखाने वाले किशोर बियानी बहुत ही सादा जीवन जीते होते हैं. बहुत से ब्रांड्स के मालिक किशोर बियानी असल जिंदगी में बेहद साधारण लाइफस्टाइल जीने के लिए जाने जाते हैं.

रिटेल किंग हैं किशोर बियानी

किशोर बियानी एक ऐसे व्यक्ति है जिन्हे भारत में आधुनिक रिटेल का लीडर माना जाता है. किशोर बियानी ने फ्यूचर ग्रुप के फ्यूचर रिटेल के जरिए रिटेल बिजनेस का पूरा साम्राज्य खड़ा किया. 9 अगस्त 1961 को मुंबई के एक कपड़ा व्यापारी के घर में किशोर बियानी का जन्म हुआ था.

उन्होंने अपने पारिवारिक व्यवसाय में बहुत रुचि दिखाई. साल 1987 में किशोर बियानी ने कपड़ों के कारोबार को रेडीमेड कपड़ों की ओर मोड़ दिया.

26 साल की उम्र में बना दिया ब्रांड

शुरुआत में किशोर बियानी को स्टोनवॉश फैब्रिक के कारोबार में सफलता मिली थी, इससे उनका उत्साह और आत्मविश्वास काफी बढ़ा. किशोर बियानी उस समय कुछ नया करने के मौके की तलाश में थे. किशोर कुछ ऐसा करना चाहते थे जिसके जरिए वह देश भर में ज्यादा से ज्यादा लोगों से जुड़ सकें.

महज 26 साल की उम्र में उन्होंने मेन्जवियर प्राइवेट लिमिटेड लॉन्च किया. बिजनेस शुरू करने के बाद किशोर बियानी ने टेक्सटाइल इंडस्ट्री को समझने में पांच साल बिताए. फिर किशोर बियानी ने रेडीमेड कपड़ों के निर्माता के रूप में अपना व्यवसाय शुरू किया और दो ब्रांड शुरू किए.

ऐसे हुआ पैंटालून का जन्म

कुछ ही समय बाद, किशोर बियानी ने अपने ब्रांड का नाम बदलकर पैंटालून्स रख दिया था. वर्ष 1992 में किशोर बियानी ने पैंटालून्स को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध कराया. ताकि पैसे जमा करे जा सकें. इसके बाद किशोर बियानी ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा.

हर साल खुलते रहे नए स्टोर

फ्यूचर ग्रुप ने साल 2001 में बिग बाजार का पहला स्टोर खोला था. वर्ष 2006 तक यह बढ़कर 56 और 2008 तक बढ़कर 116 हो चूका था. हर साल नए स्टोर खुलते रहे और साल 2019 तक कुल 295 स्टोर हो गए थे किशोर बियानी ने भारतीय मध्यम वर्ग को एक छत के नीचे पूरा बाजार दिया है. बिग बाजार को वॉलमार्ट ऑफ इंडिया के नाम से भी जाना जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here