कभी बस में कंडक्टर की नौकरी कर चलाना पड़ता था घर, आज है 400 करोड़ रुपये के मालिक

0
65

रजनीकांत ने ये साबित कर दिया है कि यदि किसी भी चीज को पाने के लिए कड़ी मेहनत करी जाए तो फिर कोई भी इंसान नामुमकिन को भी मुमकिन बना सकता हैं अभिनेता रजनीकांत युवाओं के लिए मार्गदर्शक का कार्य करते हैं जिन्होंने अपनी लगन और कड़ी मेहनत से बस कंडक्टर से सुपरस्टार बन जाने तक का सफर तय किया है.

मशहूर अभिनेता रजनीकांत का जन्म 12 दिसंबर 1950 को कर्नाटक के बेंगलुरु में एक मराठी परिवार में हुआ था वे कुल चार भाई बहन थे और उनमे सबसे छोटे रजनीकांत ही थे उनका जीवन शुरुवाती दिनों से ही काफी ज्यादा कठिनाइयों से भरा हुआ था और सिर्फ 5 वर्ष की उम्र में ही रजनीकांत की मां की मृत्यु हो गई थी.

रजनीकांत के पिता पुलिस में हवलदार की नौकरी करते होते थे रजनीकांत अपने बचपन के ही दिनों में रोजी रोटी के लिए निकल पड़े और प्रारंभ में घर का खर्च चलाने के लिए वे कारपेंटर और कुली का काम करते होते थे.

फिर इसके बाद अभिनेता रजनीकांत को बीटीएस में बस कंडक्टर की नौकरी करने लगे और बचपन के दिनों से ही इस अभिनेता को एक्टिंग का बहुत ज्यादा शौक था वे बस में भी टिकट काटते समय, सीटी बजाने और कई प्रकार के एक्टिंग से सभी लोगों को प्रभावित करा करते थे जब इनकी फाइनेंशिल कंडीशन ठीक होने लगी तो फिर उसके बाद उन्होंने उस नौकरी को छोड़कर मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट में एडमिशन ले लिया.

रजनीकांत इस इंस्टीट्यूट में एक नाटक कर रहे थे उसी दौरान ही मशहूर फिल्म निर्देशक बाला चंद्रा की नजर रजनीकांत पर पड़ गई और इनकी एक्टिंग से इतना ज्यादा प्रभावित होकर एक फिल्म में रजनीकांत को काम करने का मौका दे दिया.

अभिनेता रजनीकांत पहले विलन फिर साइड रोल और फिर उसके बाद फिल्मो में हीरो का रोल करने लगे और उसके बाद रजनीकांत ने बहुत सी हिट फिल्में भी दीं. अभिनेता रजनीकांत ने इस फिल्म की दुनिया में बहुत नाम कमाया है और बहुत से अवार्ड भी जीते हैं. सोचिए वह लोग कितने ज्यादा लकी होंगे जिन लोगो का सामान कुली के रूप में रजनीकांत ने उठाया होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here