कभी साइकिल बेचकर चलाते थे कंपनी, मेहनत की; आज है 26,000 हजार करोड़ रुपये के मालिक

0
197

पवन मुंजाल इन दिनों बहुत सुर्खियों में हैं. इपवन मुंजाल का देश की सबसे बड़ी बाइक कंपनी हीरो मोटोकॉर्प से बहुत ही गहरा नाता है. जिस वजह से वे बहुत सुर्खियों में भी हैं.

हीरो मोटोकॉर्प का इतिहास
देश का कोई भी व्यक्ति हो, हर व्यक्ति ने अपने आस-पास हीरो की बाइक जरूर देखी हुई है. हीरो की बाइक भारत की सड़कों पर सबसे ज्यादा दिखाई देने वाली बाइक है. हीरो भारत की बहुत पुरानी कंपनी भी है और इसका इतिहास भी बहुत पुराना है.

एक विदेशी कंपनी के सहयोग से शुरू करी गई यह कंपनी आज देश की सबसे बड़ी बाइक निर्माता कंपनी बन गई है. तो आइए जानते हैं हीरो कंपनी की शुरुआत किस तरह से हुई.
हीरो मोटोकॉर्प शुरू से ही हीरो-होंडा या हीरो मोटोकॉर्प नहीं थी. इस कंपनी की शुरुआत 1956 में बृजमोहन लाल मुंजाल और अन्य मुंजाल भाइयों ने की थी. उस समय इस कंपनी का नाम हीरो साइकिल था. और यह कंपनी साइकिल बनाती थी. हीरो साइकिल उन दिनों देश की शान हुआ करती थी.

साल 1984 में हीरो साइकिल ने जापानी कंपनी होंडा के साथ मिलकर बाइक्स का निर्माण शुरू किया. तब इस कंपनी का नाम हीरो-होंडा रखा गया था. जिसे आपने कुछ साल पहले देखा होगा. उनकी पहली बाइक हीरो होंडा सीडी 100 थी. यह बाइक अपने समय की सबसे मशहूर बाइक थी और बहुत लोगों ने उस समय इसे खरीदा भी था.

इस तरह हुई थी हीरो-होंडा अलग
शुरुआत में ये दोनों कंपनियां मिलकर कारोबार चला रही थीं. होंडा के पास कंपनी की लगभग 26 प्रतिशत हिस्सेदारी भी रही थी. मगर साल 2010 में दोनों ने ही अलग होने का ऐलान कर दिया था. हीरो ने घोषणा की कि वह होंडा के 26 प्रतिशत शेयर खरीदेगा. और होंडा को प्रोडक्ट पर रॉयल्टी देते रहेंगे.

जिसके बाद हीरो और होंडा दो अलग-अलग कंपनियां बन चुकी है. दोनों कंपनियां हीरो और होंडा बाइक के अलग-अलग मॉडल लॉन्च करती होती हैं. साल 2011 से दोनों कंपनियां अलग-अलग कारोबार कर रही हैं.

पवन मुंजाल का हीरो मोटोकॉर्प से क्या संबंध है?
पवन मुंजाल हीरो साइकिल्स के संस्थापक बृजमोहन लाल के बेटे हैं. वर्ष 1980 में पवन मुंजाल ने डायरेक्टर के रूप में हीरो होंडा को जॉइन करा था. फिर इसके बाद भी पवन ने बहुत से क्रांतिकारी कदम उठाए. जिससे इस कंपनी को एक अलग पहचान मिली. हीरो और होंडा के अलग होने के पीछे भी पवन मुंजाल ने काफी मेहनत करी थी.

हीरो मोटोकॉर्प का मालिक कौन है?
बृजमोहन लाल और उनके तीन भाइयों ने हीरो कंपनी की स्थापना करी थी. इसके बाद हीरो ने होंडा से हाथ मिलाया. उस समय हीरो और होंडा दोनों कंपनियाँ ही इसकी मालिक थी. लेकिन अलग होने पर पवन मुंजाल इस कंपनी के मालिक के तौर पर जाने जाते हैं.

पवन मुंजाल नेटवर्थ
देश के करीब 40 फीसदी लोगों के पास हीरो की बाइक है. फोर्ब्स के मुताबिक पवन मुंजाल देश के 54वें सबसे अमीर शख्स हैं. फोर्ब्स के मुताबिक पवन मुंजाल की संपत्ति की बात करें तो उनकी कुल संपत्ति 3.2 बिलियन डॉलर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here