कभी फ़ोन बेचने का करते थे काम, 5 हजार उधार लेकर शुरू किया बिजनेस, आज है 1 लाख करोड़ रुपये के मालिक

0
191

कामयाबी एक ऐसी मंजिल है जिस पर अमीर गरीब सबका हक एक समान है. यदि कोई व्यक्ति संघर्ष और मेहनत के रास्ते पर निरंतर आगे बढ़ता है तो वह एक न एक दिन कामयाबी को हासिल कर ही लेता है भले ही उसके जीवन में कितनी ही मुश्किल चुनौतियां क्यों न आए.

ऐसी ही कहानी है एयरटेल कंपनी के मालिक सुनील भारती मित्तल की जिन्होंने रहीस घराने से ताल्लुक रखते हुए भी सैकड़ों परेशानियों का सामना किया और मेहनत करते हुए अंत में अपनी मंजिल तक पहुंचे. जिसके चलते आज उनका और उनकी कंपनी एयरटेल का नाम विदेशों तक जाना जाता है.

आपको बता दे कि सुनील का पहला बिजनेस एयरटेल कंपनी खोलना नहीं था. उन्होंने सबसे पहले साइकिल और उसके पुर्जे बनाने का व्यवसाय शुरू किया था जिसके लिए उन्होंने अपने पिता से ₹25000 उधार लिए थे और अपने दोस्त के साथ मिलकर साइकिल का व्यवसाय शुरू किया था.

इस व्यवसाय में सुनील को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ा और एक समय ऐसा आया जब उन्हें ₹5000 की जरूरत थी लेकिन कोई उनकी मदद के लिए आगे नहीं आ रहा था और वे घर से मदद लेना नहीं चाहते थे. ऐसे में हीरो साइकिल कंपनी के मालिक बृजमोहन लाल मुंजाल ने सुनील की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया और उन्हें ₹5000 का चेक दिया.

लेकिन इस व्यवसाय को करते हुए सुनील जल्दी ही जान गए थे की से इस व्यवसाय को वे ज्यादा लंबे समय तक आगे नहीं बढ़ा सकते हैं और उन्हें कुछ बड़ा करना है. इसी सोच के साथ उन्होंने अपना पहला साइकिल व्यवसाय और अपना शहर लुधियाना दोनों छोड़ दिए और मुंबई चले आए.

इसके बाद सुनील अपने भाइयों के साथ मिलकर इंपोर्ट एक्सपोर्ट और मोबाइल फोन बेचने जैसे कई काम करते रहे लेकिन इन सब में उन्हें कुछ खास कामयाबी हासिल नहीं हुई. लेकिन मेहनत करते करते उनके जीवन में एक मौका ऐसा आया जब उन्होंने भारती एयरटेल की शुरुआत की.

जब 1992 में भारतीय सरकार द्वारा मोबाइल सेवा देने के लिए लाइसेंस बांटने की अनाउंसमेंट की गई तो सुनील ने है यह मौका तुरंत भुनाने का प्रयास किया और लाइसेंस प्रपात कर जापान की कंपनी के साथ मिलकर भारतीय एयरटेल की शुरुआत कर दी.

शुरुआती दिनों में सुनील को कई समस्याओं का सामना करना पड़ा लेकिन धीरे-धीरे भारतीय एयरटेल इस मुकाम पर पहुंच गई कि इस कंपनी की बदौलत सुनील भारत के 6वे सबसे अमीर व्यक्ति बने और उस समय सुनील की कंपनी की टक्कर में दूसरी कोई कंपनी दूर-दूर तक नहीं थी.

हाल फिलहाल में सुनील की कंपनी का थोड़ा डाउनफॉल देखने को मिला है लेकिन यह उनके जीवन की एक सीख है. उम्मीद है कि सुनील जल्द ही चुनौतियों का सामना करते हुए आगे बढ़ेंगे और फिर से उसी मुकाम पर पहुंच जाएंगे जिसका सपना उन्होंने शुरू में देखा था. आज कंपनी कुल नेट वर्थ 3 लाख 46 करोड़ रुपये है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here