क्रिकेटर बनने का था सपना, लेकिन किस्मत में कुछ और ही लिखा था; आज है 96 हजार करोड़ के मालिक

0
118

अरबपति बिजनेसमैन कुमार मंगलम बिड़ला का कहा है कि मैं सफलता और असफलता के बारे में बिलकुल भी नहीं सोचता, उनका आना-जाना लगा रहता है. कुमार मंगलम बिड़ला आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष हैं. यह ग्रुप भारत का तीसरा सबसे बड़ा व्यापारिक समूह है. कुमार मंगलम, बिड़ला परिवार की चौथी पीढ़ी के सदस्य हैं.

पिता की बात रखने के लिए की सीए की पढ़ाई

अपनी शुरुआती पढ़ाई कुमार मंगलम ने मुंबई के सिडेनहैम कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स से करी है इसके बाद उन्होंने मुंबई यूनिवर्सिटी के एचआर कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स से ग्रेजुएशन पूरी करी. फिर वह एमबीए करने के लिए लंदन चले गए. वह चार्टर्ड अकाउंटेंट भी रह चुके हैं. उन्होंने अपने पिता की बात रखने के लिए ही सीए की पढ़ाई की थी.

22 की उम्र में की अरेंज मैरिज

कुमार मंगलम की 22 साल की उम्र में 1989 में बिजनेसमैन शंभू कासलीवाल की बेटी नीरजा से शादी हुई थी. कुमार मंगलम और नीरजा के तीन बच्चे हैं आर्यमान विक्रम, अनन्या, और अद्वैतेषा. कुमार मंगलम की पत्नी आदित्य बिड़ला ट्रस्ट की वाइस चेयरपर्सन हैं.

28 साल में आई बिड़ला ग्रुप की जिम्मेदारी

अपने पिता आदित्य बिड़ला की मृत्यु होने के बाद, कुमार मंगलम को वर्ष 1995 में 28 वर्ष की आयु में बिड़ला समूह की जिम्मेदारी संभालनी पड़ी थी. इतनी कम उम्र में इतने बड़े बिड़ला ग्रुप को चलाने की उनकी क्षमता पर उस समय बहुत से लोगों ने सवाल उठाया था. मगर कुमार मंगलम ने अपनी कड़ी मेहनत और काबिलियत के दम पर ये साबित कर दिया कि कामयाबी की कोई उम्र बिलकुल भी नहीं होती.

42 देशों में फैला है बिड़ला ग्रुप का कारोबार

साल 1995 से अभी तक कुमार मंगलम दुनिया के 42 देशों में अपना कारोबार फैला चुके हैं. इनका टर्नओवर 16.5 अरब डॉलर से भी ज्यादा है. कुमार मंगलम दुनिया की सबसे अमीर शख्सियत में 106वें नंबर पर आते हैं. बिड़ला की कुल संपत्ति पिछले कुछ वर्षों में तेजी से बढ़ी है. कुमार मंगलम बिड़ला की कमाई एल्युमीनियम, सीमेंट, और वित्तीय सेवाओं से होती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here