घरवालों के खिलाफ जाकर छोड़ी बड़ी कंपनी की नौकरी; आज करते है सालाना 1.5 करोड़ रुपये का बिजनेस

0
158

बहुत बार लोग सोचते हैं कि वे मूर्ख हैं, जो लोग अपनी सुरक्षित नौकरी छोड़कर खेती शुरू करने का फैसला करते हैं. समीर परिवार के सदस्यों से नाराज हो गया जब उसे बताया गया कि वह अपनी नौकरी छोड़ देगा और अंजीर लगाने के लिए गांव लौट आएगा.

असली समीर डोम्बे जाति महाराष्ट्र से है. 2013 में इंजीनियरिंग करने के बाद उन्हें एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब मिल गई. उनका वेतन भी बहुत अधिक था. इतनी अच्छी नौकरी होने के बावजूद वह इसे नहीं करना चाहता था. हर समय उसके दिमाग में यह विचार कौंधता था कि वह कुछ अलग करना चाहता है, कुछ नया करना चाहता है.

आखिरकार 2014 में समीर डोम्बे ने अपनी बड़ी नौकरी छोड़कर अंजीर लगाने के लिए अपने गांव जाने का फैसला किया. जब उसके माता-पिता को उसके फैसले के बारे में पता चला, तो वे समीर पर ऐसा निर्णय लेने पर नाराज हो गए. परिवार के मना करने के बावजूद समीर ने अपना इरादा नहीं बदला और कहा कि वह अब खेती करना चाहता है.

समीर ने कहा कि वह जिस गांव में रहता है वहां अंजीर की काफी खेती होती है. लेकिन मुनाफा बहुत कम था क्योंकि किसान खेती और व्यापार के आधुनिक तरीके नहीं जानते थे. फिर समीर इसे खेती के व्यवसाय के रूप में करने लगा और समीर खेती के साथ-साथ प्रोसेसिंग और पैकेजिंग का काम भी करने लगा.

समीर ने सबसे पहले अंजीर को 1 एकड़ में लगाना शुरू किया. रोपण के बाद उगाई गई फसलों को खाद्य बाजार में आपूर्ति की जाती थी. उनके उत्पादों की गुणवत्ता अच्छी थी, इसलिए आपूर्ति नियमित रूप से शुरू हुई. आजकल समीर के इस उत्पाद की आपूर्ति इतनी बढ़ गई है कि अब यह सुपरमार्केट में भी उपलब्ध है. समीर का उत्पाद ऑनलाइन भी उपलब्ध है. अब समीर अन्य किसानों से भी माल खरीदता है और उन्हें बाजार में आपूर्ति करने से किसानों को अच्छी आय प्राप्त करने का मौका मिलता है.

आगे समीर ने यह भी कहा कि पहले फल कटने के दो या तीन दिन बाद बाजार में पहुंच जाते थे, अब वे एक दिन में छोटे पैकेट में पहुंचा देते हैं. बिचौलियों के लिए पहले उपलब्ध धन अब पूरी तरह से बंद हो गया है. अब समीर उन फलों से जेली और जैम बनाता है जो बाजार में आने के बाद बच जाते हैं और उन्हें ऑनलाइन और ऑफलाइन बेचते हैं.

समीर ने अपनी आय का जिक्र करते हुए कहा कि आप फलों से प्रति एकड़ 1.5 से 2 लाख रुपये कमा सकते हैं. इस समय समीर की कंपनी का टर्नओवर 1.5 करोड़ रुपये से ज्यादा है.

इस प्रकार समीर ने अपने निर्णय पर बहुत मेहनत की ताकि बाद में उसे नौकरी छोड़ने का पछतावा न हो. आजकल समीर अपनी कमाई से दूसरे किसानों को जानकारी देता है ताकि दूसरे किसान भी अच्छी खासी कमाई कर सकें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here