“छोटे कद के हो कोई रोल नहीं मिलेगा” कहकर प्रोड्यूसर ने किया था बेइज्जत, आज है 100 करोड़ के मालिक

0
88

किसी भी बाहरी कलाकार के लिए बॉलीवुड इंडस्ट्री में एंट्री लेना और नाम कमाना उतना ही मुश्किल है जितना कि छोटी नाव में बैठकर समुंदर पार करना. लेकिन इंडस्ट्री में एक कलाकार ऐसे भी है जिन्होंने आउटसाइडर होते हुए बॉलीवुड की दुनिया में ना सिर्फ नाम कमाया बल्कि एक लंबे समय तक इंडस्ट्री पर राज भी किया है.

हम बात कर रहे हैं 90 के दशक के सुपरस्टार गोविंदा की जो आज भी अपनी बेहतरीन कॉमेडी फिल्मों और मजेदार डांस के लिए जाने जाते हैं. गोविंदा की फिल्में आज भी जब टीवी पर आती है तो लोग टीवी के सामने चिपक कर बैठ जाते हैं और उनकी फिल्मों का बहरपूर मज़ा लेते है.

लेकिन हाल ही में गोविंदा द्वारा दिए गए एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि बॉलीवुड इंडस्ट्री में उनके लिए इस मुकाम तक पहुंच पाना कोई आसान बात नहीं थी उन्होंने इंडस्ट्री में शुरुआती दौर में ऐसे ऐसे दिन देखे हैं जिनके बारे में आज के नए कलाकार कल्पना भी नहीं कर सकते हैं.

गोविंदा बताते हैं कि शुरुआती दिनों में उनकी कोई भी जानकारी इंडस्ट्री के किसी भी व्यक्ति से नहीं थी वह अपने करियर के शुरुआती दिनों में अपनी एक्टिंग की एक कैसेट लेकर एक प्रोड्यूसर से दूसरे प्रोड्यूसर के पास जाया करते थे और अक्सर उन्हें यह कहकर रिजेक्ट कर दिया जाता था कि न तो तुम्हारे पास हाइट और पर्सनैलिटी है और ना ही तुम्हारे आवाज में दम है.

यहां तक कि एक प्रोड्यूसर ने तो गोविंदा को बेइज्जत करके यह कहते हुए रिजेक्ट किया था कि आज के टाइम पर अमिताभ बच्चन जैसी हाइट वाले एक्टर ही चलते हैं तुम्हारे जैसे छोटी हाइट के लोगों को इंडस्ट्री में कहीं काम नहीं मिलेगा इसलिए फालतू की कोशिशें करना बंद कर दो.

ऐसा ही एक अन्य किस्सा शेयर करते हुए गोविंदा ने इंटरव्यू में बताया कि एक प्रोड्यूसर से फिल्म मांगने के लिए उन्हें कई घंटों बारिश में खड़े रहना पड़ा था और इसके बावजूद भी उन्हें फिल्म में लेने से मना कर दिया गया था जिसके बाद उन्हें इतना बुरा लगा था कि उन्होंने कुछ समय तक काम मांगने के लिए कोशिश करना ही बंद कर दिया था.

लेकिन इन सब परेशानियों के बावजूद भी उन्होंने अपने आप को फिर से तैयार किया और फिर एक बार लंबे समय तक काम की तलाश में भटकते रहे ओर धीरे धीरे उन्हें छोटे-मोटे रोल मिलने शुरू हुए और लाख कोशिशों के बाद उन्हें उनकी पहली फिल्म “तन बदन” मिली जिसमें उन्होंने अपने बेहतरीन अभिनय से इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाई.

गोविंदा ने अपने इंटरव्यू में कहा था कि उनके स्ट्रगल के दिनों से आज के युवा कलाकारों को प्रेरणा लेनी चाहिए क्योंकि यह इंडस्ट्री किसी भी बाहरी कलाकार को इतनी जल्दी स्वीकार नहीं करती है. यहां पर स्टार किड्स के लिए ही इतना ज्यादा कॉन्पिटिशन है कि बाहरी लोग तो दशकों तक इसमें छोटे-मोटे रोल के लिए ही तरसते रहते हैं.

इस संघर्ष के बाद भी गोविंदा का इस मुकाम तक पहुंच पाना बहुत से कलाकारों के लिए वाकई में प्रेरणा है गोविंदा के स्ट्रगल के दिनों से जो लोग परिचित है वे जानते है कि उनका जीवन कितना संघर्षपूर्ण रहा है और कितनी चुनौतियों का सामना करने के बाद गोविंदा आज इस मुकाम पर पहुंचे है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here