पति की मृत्यु के बाद भी हिम्मत नहीं हारी, आज बन चुकी है 40,000 करोड़ की एकलौती मालकिन

0
200

भारत के सबसे अमीर लोगों में ज्यादातर पुरुषों के नाम शामिल हैं. मगर आज हम आपको एक ऐसी महिला की सफलता की कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके नाम भारत की सबसे अमीर महिला होने का गौरव भी प्राप्त है. यह महिला आज के समय में भारत के सबसे बड़े औद्योगिक घराने में से एक जिंदल का नेतृत्व करती हैं.


हम बात कर रहे हैं लगभग 52,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति की मालकिन सावित्री जिंदल के बारे में. सावित्री जिंदल स्टील कंपनी जिंदल समूह की चेयरपर्सन हैं.

हिसार में स्थित जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड एक भारतीय स्टील और ऊर्जा कंपनी है. यह समूह देश में खनन, तेल, इस्पात, बिजली, गैस और बुनियादी ढांचे में एक प्रमुख कंपनी है. सावित्री जिंदल के पति ओमप्रकाश जिंदल ने इस कंपनी की स्थापना करी थी. वर्ष 1952 में कोलकाता के पास में लिलुआ में सॉकेट और पाइप बेंड का निर्माण करने वाली एक छोटी फैक्टरी से जिंदल लिमिटेड की शुरुआत हुई थी.

कई वर्षों तक काम कर लेने के बाद वे वर्ष 1960 में अपने पैतृक जिले हिसार में चले गए और यहां पर उन्होंने अपना उद्योग भी स्थापित कर दिया. उन्होंने करीब 34 औद्योगिक इकाइयों की स्थापना करी, जिनमें से 30 भारत देश में स्थित है और तीन अमेरिका में और एक इंडोनेशिया में है.

मैन ऑफ स्टील के नाम से मशहूर ओम प्रकाश जिंदल की तकनीकी और इंजीनियरिंग कार्यों में काफी रुचि थी हालांकि, उन्होंने तकनीकी और इंजीनियरिंग में कोई औपचारिक शिक्षा नहीं ली. मगर इन विषयों के प्रति उनके गहरे जुनून ने उन्हें एक सफल उद्योगपति की सूची में ला दिया.

किसान परिवार में जन्मे ओम प्रकाश ने खेती से करियर की शुरुआत करी थी, फिर एक साधारण व्यापारी बनें, फिर बकेट मेकर और फिर उन्हें अंतरराष्ट्रीय ख्याति के उद्योगपतियों की सूची में शामिल किया गया.

वर्ष 2005 में एक हवाई दुर्घटना में ओम प्रकाश जिंदल की मृत्यु के बाद, जिंदल समूह की बागडोर उनकी पत्नी सावित्री देवी जिंदल और चार बेटों सज्जन जिंदल, रतन जिंदल, पृथ्वी राज जिंदल, और नवीन जिंदल नवीन जिंदल पर आ चुकी थी.

इस जिंदल इंडस्ट्रीज ग्रुप का सबसे मुख्य व्यवसाय स्टील से ही संबंधित है. फिर भी, इसे चार वर्गों में बांटा गया है – पाइप, कार्बन स्टील, स्टेनलेस स्टील, रेल और ऊर्जा. आज के समय में पिता की तरह चारों बेटे भारत के सफल उद्योगपति माने जाते हैं. और अपनी कंपनियों को नई ऊंचाइयों पर ले जाकर देश के औद्योगिक विकास में अपना योगदान दे रहे हैं.

फोर्ब्स द्वारा जारी करी जा चुकी सबसे अमीर भारतीयों की सूची में सावित्री जिंदल 20वें स्थान पर रही है और महिलाओं की सूची में सावित्री जिंदल सबसे ऊपर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here