पती ने छोड़ा, 1 लाख से शुरू किया खतरनाक बिजनेस; आज सालाना करती है 20 लाख रुपये का बिजनेस

0
581

जीवन का अंत कब होगा कोई नहीं जानता. इसलिए हमें बिना किसी डर के हर परिस्थिति से लड़ने के लिए खुद को तैयार करना चाहिए. फिर आपको कभी पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ेगा.

शिल्पा की जिंदगी में एक ऐसा मोड़ आया जब उनके पति ने उनसे झूठ बोला और उन्हें हमेशा के लिए छोड़ दिया.उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि क्या करें और क्या न करें. लेकिन आज वही शिल्पा हालात से लड़कर और फूड ट्रक चलाकर एक सफल महिला उद्यमी बन गई हैं. आइए जानें उनके सफर के बारे में.

आजकल सोशल मीडिया पर शिल्पा की कहानी पूरी तरह से छा गई है और इसके पीछे का कारण महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी के मालिक आनंद महिंद्रा ने उनकी कहानी को ट्वीट किया है. मीडिया से बातचीत के दौरान शिल्पा ने कहा कि हालांकि उन्हें बचपन से ही कुकिंग का शौक था, लेकिन बाद में यह उनका बिजनेस होगा, उन्होंने कभी इस बारे में नहीं सोचा और ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि उन्हें फूड ट्रक मिल गया. इसे बलपूर्वक शुरू किया जाना चाहिए न कि उसकी इच्छा से.

उन्होंने कहा, “मैंने अपनी मर्जी से नहीं, बल्कि आवश्यकता से खाद्य ट्रक व्यवसाय में प्रवेश किया,” उसने कहा. लेकिन आजकल शिल्पा ने अपने फूड ट्रक की वजह से पूरे मैंगलोर में नाम कमा लिया है. शिल्पा अपनी बेबसी को ठीक से बयां नहीं कर पा रही हैं. वह कभी आत्मविश्वास से मुस्कुराती है तो कभी पूरी तरह से चुप.

वह 2005 की बात है जब शिल्पा शादी के बाद पति के साथ मैंगलोर में रह रही थीं. सब कुछ ठीक चल रहा था. लेकिन 2008 में एक दिन शिल्पा के पति ने उनसे कहा कि उन्हें बिजनेस लोन के लिए कुछ दिनों के लिए बैंगलोर जाना होगा. यहीं पर उनके पति के नहीं लौटने पर उनकी जिंदगी ने यू-टर्न ले लिया. शिल्पा का उनके साथ एक 3 साल का बेटा था जब उनके पति ने उन्हें छोड़ दिया. इस तरह अचानक सारी जिम्मेदारी शिल्पा पर आ गई.

इसके बाद लोगों ने उन्हें सेकेंड हैंड ट्रक खरीदने की सलाह दी लेकिन दिक्कत यह थी कि शिल्पा उन्हें फाइनेंस नहीं कर पाईं. इसलिए वह एक नए ट्रक को फाइनेंस करने के लिए शोरूम गई. वहां पहुंचने पर, उन्होंने महसूस किया कि उन्हें रुपये का डाउन पेमेंट करना होगा. लेकिन शिल्पा के पास सिर्फ 1 लाख रुपये थे.

उन्होंने अपने बेटे के लिए 1 लाख रुपये अलग रखे थे ताकि भविष्य में उन्हें कोई परेशानी न हो. जब शिल्पा ने अपना फूड ट्रक बिजनेस शुरू किया था, तब वह प्रतिदिन 500 रुपये से 1,000 रुपये कमाती थी, लेकिन अब वह प्रतिदिन 10,000 रुपये तक कमा लेती है. शिल्पा अपनी कमाई अपने बच्चे की शिक्षा और अपने माता-पिता के स्वास्थ्य और अपने स्वास्थ्य पर खर्च करती हैं. उन्होंने अपने फूड ट्रक का नाम ‘हाली माने रोटियां’ रखा है.

शिल्पा ने कहा कि उनकी कहानी से प्रभावित होकर महिंद्रा एंड महिंद्रा के मालिक आनंद महिंद्रा ने ट्वीट किया और उनकी मदद करने का वादा किया. इससे उन्हें बहुत खुशी हुई और उन्हें और भी बेहतर करने की प्रेरणा मिली. जब से आनंद महिंद्रा ने शिल्पा की कहानी ट्वीट की है, उनके सब्सक्राइबर्स की संख्या में जबरदस्त इजाफा हुआ है.

दरअसल, शिल्पा की कहानी से पूरे समाज को प्रेरणा लेनी चाहिए कि हमें किसी भी स्थिति से डरकर भागना नहीं चाहिए, बल्कि उसका डटकर सामना करना चाहिए. साथ ही, हमें अपने आप को इतना मजबूत रखना चाहिए कि हम अपने दो पैरों पर खड़े हो सकें, चाहे कोई भी हमें अकेला छोड़ दे. उनका मानना ​​है कि हम सभी में जबरदस्त शक्ति है. हमें बस खुद को जानना है. पति के गुजर जाने के बाद शिल्पा की जिंदगी नए सिरे से शुरू हुई और उन्होंने अपनी अलग पहचान बनाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here