पिता ने बेटे को पढाई के लिए अमेरिका भेजा; आज बेटा 3000 करोड़ रुपये का मालिक है

0
129

दुनिया के मशहूर सीईओ में से एक नडेला को इस बार देश के तीसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म भूषण से नवाजा गया है. सत्या नडेला माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ है वे आज किसी पहचान के मोहताज बिलकुल भी नहीं है.

भारतीय मूल के सत्य नडेला का करियर और जीवन ऐसा है जिससे हर युवा प्रेरणा ले सकता है. नडेला का स्वप्नीला सफर ज्यादातर भारतीयों को आकर्षित करता है. उनकी मेहनत और लगन का नतीजा है कि आज वो दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनी के सीईओ हैं. अमेरिका में एक हस्ती हैं. साथ ही सालाना 300 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई है.

हैदराबाद से हुई थी यात्रा की शुरुआत
19 अगस्त 1967 को हैदराबाद में नडेला का जन्म हुआ था. उनके पिता 1962 बैच के आईएएस अधिकारी थे. और उनकी मां प्रभावती लेक्चरर थीं. उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा हैदराबाद से ली. इसके बाद उन्होंने साल 1988 में मनीपाल इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिं कॉलेज से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग करी.

फिर सत्या नडेला आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका चले गए. वहां उन्होंने मैडिसन के विस्कॉन्सून विश्वविद्यालय से कंप्यूटर विज्ञान का अध्ययन किया. उसके बाद साल 1997 में सत्या नडेला ने यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो बूथ से एमबीए की डिग्री हासिल करी.

ऐसे शुरू हुआ माइक्रोसॉफ्ट का सफर
लंबे समय से नडेला माइक्रोसॉफ्ट से जुड़े हुए हैं और वह साल 1992 में एक युवा इंजीनियर के रूप में कंपनी में शामिल हुए थे. इसके बाद उन्होंने काफी ज्यादा तरक्की करी थी और आज वह अध्यक्ष पद पर पहुंच चुके हैं.

साल 1992 में कंपनी में शामिल होने के बाद, उन्हें 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सेंट्रल का उपाध्यक्ष बनाया गया, इसके बाद वे माइक्रोसॉफ्ट बिजनेस सॉल्यूशंस के कॉर्पोरेट वाइस प्रेसिडेंट बने.

फिर उन्हें माइक्रोसॉफ्ट ऑनलाइन सर्विसेज का सीनियर वाइस प्रेसिडेंट बनाया गया. और फिर सत्य नडेला सर्वर और टूल्स डिवीजन के अध्यक्ष बन गए और उन्होंने कंपनी को भारी मुनाफा दिलाया.

आखिर कितनी है सत्या नडेला का सालाना पैकेज
माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला का सालाना पैकेज 42,910,215 डॉलर है. नडेला को माइक्रोसॉफ्ट के कर्मचारियों के औसत वेतन से 27,896,691 डॉलर अधिक मिलते हैं. इस कंपनी में प्रति कर्मचारी औसत वेतन $1,72,412 है. मतलब नडेला की जितनी सैलरी है, उसमें 249 कर्मचारियों को वेतन दिया जा सकता है. आपको बता दें, साल 2018-19 में उनका वेतन 66 प्रतिशत बढ़कर 42.90 मिलियन डॉलर (304.59 करोड़ रुपये) हो गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here