पिता से झूठ बोलकर लिए 10 हजार रुपये, आइडिया जबरदस्त था; आज सालाना करते हे 4 करोड़ रुपये का बिजनेस

0
218

क्या अपने कभी सोचा है कि कोई चाय बेच कर भी करोड़ों रुपए कमा सकता है ऐसा कर दिखाया है प्रफुल्ल बिलोर नाम के एक लड़के ने आज हम आपको इसी शख्स के बारे में ही बताने वाले जो की आज के समय में चाय बेचकर करोड़ो रुपए का कारोबार कर रहा है.

प्रफुल्ल बिलोर ने आईआईएम अहमदाबाद पढ़ने के लिए अहदाबाद में चले गए थे. वहां पर वे लगातार तीन साल कॉमन एडमिशन टेस्ट की तैयारी करी इसके बावजूद जब कैट की परीक्षा क्लियर नहीं हो पाई तो फिर उन्होंने चाय की दुकान खोलने का फैसला लिया और इसका नाम दिया -‘MBA चायवाला’ रख दिया. और आज, MBA चायवाला का पुरे देश भर में 22 से भी ज्यादा आउटलेट्स हैं और अब जल्द ही एक अंतरराष्ट्रीय आउटलेट को भी वे ओपन करने जा रहा है. अभी के समय में प्रफुल्ल करोड़पति हैं.

अहमदाबाद से करी थी शुरुआत

धार के एक बहुत ही छोटे से गांव लबरावदा के किसान परिवार के प्रफुल्ल बिल्लौरे IIM अहमदाबाद से MBA करना चाहते थे, मगर जब प्रफुल्ल बिलोर के हाथ सक्सेस नहीं लगी तो फिर दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों की ओर रुख करा मगर दिल लगा तो अहमदाबाद में. प्रफुल्ल बिलोर को अहमदाबाद शहर इतना ज्यादा पसंद आ गया कि वो वहीं पर ही बसने की सोचने लगे.

अभी रहने के लिए पैसे चाहिए और पैसे कमाने के लिए कुछ न कुछ तो करना ही पड़ेगा, ऐसा ही सोचकर प्रफुल्ल बिलोर ने अहमदाबाद में मैकडॉनल्ड में नौकरी करने लगे. यहां पर प्रफुल्ल को करीब 37 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से पैसे मिलते थे और वे दिन में लगभग 12 घंटे काम करते थे.

चाय की दुकान ने बना दिया प्रफुल्ल को करोड़पति

एक दिन प्रफुल्ल को यह एहसास हुआ कि वे पूरी जिंदगी मैकडॉनल्ड की नौकरी तो बिलकुल भी नहीं कर सकते है, इसी कारण प्रफुल्ल बिलोर ने अपना खुद का बिजनेस शुरू कर लेने की सोची. मगर किसी भी बिजनेस शुरू करने के लिए, प्रफुल्ल के पास पैसे नहीं थे. फिर ऐसे में प्रफुल्ल ने एक ऐसा बिजनेस को करने के बारे में सोचा जिसमें की पैसे भी काफी कम लगे और काफी आसानी से भी हो जाए.

बस फिर यहीं से प्रफुल्ल बिलोर को चाय का काम शुरू करने का आइडिया आया. इस काम की शुरुआत के लिए प्रफुल्ल बिलोर ने अपने पिता से झूठ बोलकर पढ़ाई के नाम पर करीब 10 हजार रुपए ले लिए. फिर इन्हीं पैसों से प्रफुल्ल ने एक चाय का ठेला लगाना शुरू कर दिया. और आज के समय में एमबीए चायवाला एक ब्रांड बन चुका है.

अब लोग मांगते है सलाह

प्रफुल्ल बिलोर की सफलता ने उन सभी लोगों को मुंहतोड़ जवाब दे दिया है जो की उनका कभी मज़ाक उड़ाया करते थे, प्रफुल ने एक बार यह भी बताया था कि अभी बहुत से लोग उनसे सलाह भी मांगते हैं. प्रफुल ने एमबीए को बीच मे ही छोड़कर चाय का काम शुरू करा था. अपने इस चाय के बिजनेस को शुरू करने के करीब 4 वर्षो में ही प्रफुल्ल बिलोर ने लगभग 3 करोड़ रुपए कमाकर देश भर में तारीफे बटोर ली थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here