मुंबई की सड़कों पर बैग बेचने वाले तुषार जैन ने अपनी मेहनत से खड़ी करी 250 करोड़ रुपये की कंपनी

0
244

दुनिया भर में बहुत से लोग ऐसे भी होते है जो अपने सपनों को सिर्फ इस वजह से टूट जाने देते हैं क्योंकि उनका मानना ​होता ​है कि उनके पास संसाधनों की काफी कमी है। वहीं दुनिया भर में बहुत कम लोग ऐसे होते हैं जो अपने हालात से लड़कर कामयाबी हासिल कर लेते हैं। तुषार जैन नाम उन्हीं गिने चुने लोगो में से एक हैं। आइए जानते हैं तुषार जैन के कामयाबी के सफर के बारे मे

कौन हैं तुषार जैन

हाई स्पिरिट कमर्शियल वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड नामक कंपनी के तुषार जैन एमडी और सह-संस्थापक हैं। तुषार जैन के लिए सफलता हासिल करना इतना आसान नहीं रहा है, उन्होंने कई कठिनाइयों का सामना करा है मगर तुषार जैन ने कभी भी हिम्मत नहीं हारी थी। यही कारण है कि आज वे 250 करोड़ से अधिक की कंपनी के मालिक है।

एक समय में मुंबई की सड़कों पर बेचे थे बैग

वर्ष 1992 में स्टॉकब्रोकर हर्षद मेहता घोटाले में बहुत से लोगों का पैसा डूब गया था उनमे से एक नाम झारखंड के रहने वाले एक बिजनेसमैन मूलचंद जैन का भी था जिन्होंने हर्षद मेहता घोटाले में अपना बहुत ही ज्यादा पैसा खो दिया था। इस घोटाले में अपने पैसे खो देने के बाद, मूलचंद को अपने बेटे तुषार जैन के साथ मुंबई की सड़कों पर बैग बेचने का काम करने लगे थे।

मेहनत करके हासिल करी कामयाबी

साल 2012 में तुषार जैन ने हाई स्पिरिट कमर्शियल वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड नाम से अपनी एक कंपनी की शुरुवात करी थी। कड़ी मेहनत और सच्ची लगन के साथ आज तुषार जैन की कंपनी ‘हाई स्पिरिट कमर्शियल वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड’ भारत की चौथी सबसे बड़ी बैग बनाने वाली कंपनी बन चुकी है। तुषार जैन की इस 250 करोड़ की हाई स्पिरिट कमर्शियल वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का मुख्यालय मुंबई में है।कंपनी के 10 कार्यालय पूरे देश में स्थित हैं, जो देश के विभिन्न राज्यों में अपने पैर जमा रहे हैं।

अब कंपनी कर रही है करोड़ों का कारोबार

साल 2014 में यह कंपनी एक दिन में लगभग 10,000 से लेकर 20,000 तक बैग को तैयार करती होती थी। और तुषार जैन की इस कंपनी का टर्नओवर तब लगभग 90 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का था। और सिर्फ 3 साल में ही तुषार जैन की इस कंपनी का टर्नओवर दुगने से ज़्यादा हो चूका था और आज के समय में तुषार जैन की यह कंपनी करोड़ों का कारोबार कर रही है।

तुषार जैन ने अपने एक इंटरव्यू में कहा है कि अब उनका सपना इस कंपनी को अगले 5 साल में 1000 करोड़ का टर्नओवर करने का है। इस सपनों को पूरा करने के लिए तुषार जैन अब बिहार के पटना में एक नया प्लांट लगा रहे हैं। जहां पर वह सालाना लगभग 25 लाख तक बैग को तैयार करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here