विदेश घूमते वक्त दिमाग में आया एक खतरनाक आइडिया; आज खड़ी कि 7500 करोड़ रुपये की कंपनी

0
127

साउथ ईस्ट एशिया का फैशन ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म जीलिंगो एक नए मुकाम पर पहुंच चूका है. जीलिंगो कंपनी की सफलता के पीछे 27 साल की उम्र की अंकिति बोस का हाथ है. अंकिति बोस जीलिंगो कंपनी की फाउंडर और सीईओ भी हैं. साल 2014 में जीलिंगो कंपनी की शुरुआत हुई थी.

इस का हेड ऑफिस सिंगापुर में बना है और अंकिति बोस की कंपनी जीलिंगो की टेक टीम बैंगलोर में स्थित है. इसके साथ ही बेंगलुरु में इस स्टार्टअप के एक और को-फाउंडर ध्रुव कपूर इसके काम देखते होते हैं. अभी इस फैशन स्टार्टअप जीलिंगो की वैल्यू लगभग 970 मिलियन डॉलर से भी ज्यादा की है और इसके साथ ही जीलिंगो कंपनी यूनिकॉर्न स्टेट्स पाने के बहुत ही ज्यादा करीब है.

यह भी बता दें कि लगभग 1 अरब डॉलर की कंपनी को यूनिकॉर्न स्टेट्स मिलता होता है. इस कंपनी ने अपनी वैल्यू में से लगभग 306 मिलियन डॉलर सिर्फ फंडिग से जुटाए हुए थे.

अंकिति बोस की कंपनी की टीम में कुल 100 लोग काम करते हैं. और उन्होंने साल 2012 में मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज से अपनी ग्रेजुएशन पूरी करी हुई है. बोस बताया हैं कि एक दिन वे बैंकॉक में घूमने के लिए चली गई थीं और बैंकॉक में ही अंकिति बोस ने वहा के लोगों में फैशन के लिए बहुत ज्यादा प्यार देखा. फिर जिसके बाद अंकिति बोस ने एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की शुरुवात करने की सोची.

जीलिंगो कंपनी के आज के समय में सिंगापुर के अलावा इंडोनेशिया, थाइलैंड, और फिलिपींस में भी बहुत ज्यादा मशहूर हो चुकी है. अंकिति बोस कहती हैं कि उनके इस पूरे सफर में बहुत से पुरुषों ने उनकी मदद करी है, यदि अगर महिला उद्यमी ज्यादा होती तो काफी ज्यादा अच्छा होता.

आपको बता दे वैश्विक स्तर पर स्टार्टअप कंपनियों की महिला संस्थापक काफी कम हैं. दुनिया की लगभग 239 स्टार्टअप कंपनियों में से सिर्फ 23 कंपनियों में महिला संस्थापक हैं, जिनका कारोबार लगभग 1 अरब डॉलर तक पहुंच चूका है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here