स्टील से भी हल्का बनाया था Electric Truck; आज खड़ी कि 200 करोड़ रुपये की कंपनी

0
159

भारत की अग्रणी ऑल-इलेक्ट्रिक कमर्शियल ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरिंग कंपनी, ‘ईवेज’ ने हाल ही में यूएस स्थित रेडब्लू कैपिटल फर्म से 28 मिलियन डॉलर जुटाए हैं.

वर्ष 2014 में शुरू हुई, कंपनी वर्तमान में अमेज़न इंडिया जैसे प्रमुख वितरण सेवा भागीदारों को ईवी ट्रकों की आपूर्ति कर रही है. सीड-राउंड फंडिंग से कंपनी को 2022-23 में दिल्ली के बाहर अपनी उत्पादन-तैयार फैक्ट्री बनाने और उसका विस्तार करने में मदद मिलेगी. ईवेज का मुख्यालय चंडीगढ़ में है और पिछले एक दशक में डिजाइन और निर्माण के तरीकों में हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और प्रक्रिया नवाचारों के लिए जाना जाता है.

इवेज के संस्थापक और सीईओ इंद्रवीर सिंह के अनुसार, कंपनी का पहला वाहन मॉडल एक्स एक टन की क्षमता वाला एक वाणिज्यिक ट्रक है.

स्टार्टअप के तौर पर उनका सफर 2014 में शुरू हुआ था और अपनी कंपनी, ईवेज के तहत, उन्होंने अपने पहले उत्पाद के रूप में एक टन चार पहिया वाणिज्यिक वाहन बनाया इंद्रवीर सिंह को अपनी कंपनी को आधारिक रूप से रजिस्टर कराने में लगभग 5 साल लग गए थे.

इंद्रवीर सिंह की टीम में अत्यधिक कुशल वैज्ञानिक और इंजीनियर शामिल हैं, जिन्होंने पहले मिसाइल, एयरोस्पेस प्रोपल्शन सिस्टम जैसे क्षेत्रों में काम करा हुआ है. यह कंपनी अभी तक 20 पेटेंट के लिए आवेदन कर चुकी है जो अभी प्रक्रिया में हैं. यह कंपनी ऐसी मॉड्यूलरिटी और बायो-फ्रेंडली सामग्री पर ध्यान केंद्रित कर रही है, जो स्टील से हल्का और मजबूत होता है. इन नवाचारों के परिणाम बहुत अच्छे रहे हैं.

इंद्रवीर का कहना है कि हम पहले ही चार पहिया इलेक्ट्रिक ट्रक बना चुके हैं, जो सड़कों पर भी है. ये काफी देशों से आयातित मॉडलों से बहुत ही अलग है, क्योंकि हम चेसिस को एक एकीकृत पावरट्रेन के साथ बहुत करीब से बनाते हैं.

अभी मॉडल एक्स को एफएमसीजी, लॉजिस्टिक्स और ई-कॉमर्स सेक्टर में बहुत ही लंबी दूरी की डिलीवरी चुनौतियों को देखते हुए, गहन शोध के बाद विकसित करा जा चूका है, जिसके तहत कंपनी ने सैकड़ों डिलीवरी ड्राइवरों से जमीनी स्तर से जुड़ी समस्याओं को समझने के लिए बात की.

कंपनी ने अपने 5 प्रोटोटाइप के लिए अपने ग्राहकों के साथ 2,50,000 किमी से भी ज्यादा की ऑन-रोड टेस्टिंग करी इस साल इस गाड़ी को आधिकारिक तौर पर लॉन्च कर दिया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here