10 लाख रुपये से शुरू किया सबसे अलग बिजनेस; आज सालाना करते है 4 करोड़ रुपये का बिजनेस

0
94

शिक्षा हर व्यक्ति के लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है मगर ऐसा बिलकुल भी नहीं है कि सिर्फ डिग्रियां प्राप्त लोग ही कुछ बड़ा कर पाते हैं. आज हम एक ऐसे लड़के के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने सिर्फ 12वीं तक पढ़ाई की है, लेकिन उसने जो सफलता हासिल की है उसकी चर्चा हर जगह हो रही है.

12वीं पास लड़के कर दिया सबको हैरान

बिहार के मधुबनी में देवेश झा का जन्म हुआ, देवेश झा ने पढ़ाई तो सिर्फ 12वीं तक ही करी थी मगर देवेश झा ने अपने हुनर के दम एक ऐसा ड्रोन बनाया है जिसने हर किसी को हैरान कर दिया है. लगभग 5 साल की लगन और कड़ी मेहनत के बाद देवेश झा को ये एक बहुत ही बड़ी कामयाबी मिली है.

लगभग 10 लाख की लागत से वर्ष 2017 में देवेश झा ने डेबेस्ट नाम से एक स्टार्टअप की शुरू करा था. पिछले साल देवेश झा की इस कंपनी ने लगभग 4 करोड़ का टर्नओवर करा है. देवेश झा के मुताबिक उनकी इस कंपनी के पास लगभग 40 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट मौजूद है.

बचपन से ही कुछ बड़ा करने की सोच थी

देवेश के मन में साल 2009 में इस स्टार्टअप को शुरू कर ने का विचार आया था. जब देवेश 11वीं कक्षा की पढ़ाई कर रहे थे तब एक बार देवेश का एक्सीडेंट हो गया था और देवेश के साथ यह घटना होने पर भी उन्हें बहुत समय बाद अस्पताल में लेकर जाया गया था. बस यही से ही देवेश ने सोचा कि यदि उन्होंने भी आज कुछ बड़ा करा होता और उनका भी काफी बड़ा नाम होता तो फिर उन्हें इतना ज्यादा इंतजार बिलकुल भी नहीं करना पड़ता.

किसानों के हित की सोच

प्रौद्योगिकी क्षेत्र में क्रांति लाने की सोच रखने वाले देवेश ने भी बिहार सरकार के सहयोग से ड्रोन की मदद से सर्वेक्षण, फसल नुकसान का आकलन करना शुरू करा अभी देवेश की कंपनी इस तरह के ड्रोन को तैयार कर रही है जो की किसानों के सैकड़ों एकड़ की फसलों को सिर्फ कुछ ही समय में स्प्रे कर देते है.

किसानों को अपनी फसलों पर कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करने में बहुत ही ज्यादा समय लगता होता हैं. और फिर इन कीटनाशकों का बहुत ही बुरा असर सभी किसानों की सेहत पर पड़ता है. और वहीं देवेश की कंपनी द्वारा बनाए जा रहे इन ड्रोन की मदद से इस काम को कुछ ही घंटों में पूरा कर दिया जाता है.

देवेश की कंपनी द्वारा तैयार करे जा रहे इन ड्रोन की मदद से किसानों की लगभग 30 हजार एकड़ से भी ज्यादा फसलों पर छिड़काव करा जा चुका है. बिहार सरकार के साथ-साथ छत्तीसगढ़ सरकार, हरियाणा सरकार, समेत बहुत सी राज्य सरकारें भी देवेश के इन ड्रोन का उपयोग कर रही हैं और देवेश के ड्रोन प्रोजेक्ट की यूरोप के कई देशों में भी काफी ज्यादा डिमांड है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here