14 हजार रुपये से की बिजनेस की शुरुवात, बड़ी मेहनत की; आज बन चूका है 42000 करोड़ की कंपनी का मालिक

0
3525

यदी आप मेहनती हैं और आपके पास दुनिया से कुछ अलग सोचने की क्षमता है तो फिर दुनिया की कोई भी ताकत आपको सफल होने से बिलकुल भी नहीं रोक सकती. इस बात को समय-समय पर कई लोगों ने अपनी मेहनत और अलग सोच के दम पर असंभव से लगने वाले काम को भी संभव कर के भी दिखाया है. ऐसा ही कुछ करके दिखाया है सॉफ्टवेयर फर्म पर्सोनियो के सीईओ हनो रेनर ने. तो आइए जानते हैं इनकी सफलता की कहानी के बारे में.

14 हजार से शुरू करी थी कंपनी
हनो रेनर ने 6 साल पहले ही पर्सोनियो जैसा स्टार्टअप की शुरुआत करी थी और बहुत ही कम समय में, यह स्टार्टअप यूरोप के सबसे मूल्यवान स्टार्ट-अप्स में से एक बन गया है. हनो ने महज 200 डॉलर यानी 14 हजार रुपये में शुरुआत करी थी. आज यह 468 अरब रुपये की कंपनी बन गई है.

काफी संघर्ष के बाद रंग लाई मेहनत
हनो ने एक इंटरव्यू में बताया कि उनकी कंपनी की वैल्यू भले ही आज अरबों में हो, मगर एक वक्त ऐसा भी था जब उनकी कंपनी के बैंक अकाउंट में सिर्फ 226 डॉलर ही रह गए थे. इसके बावजूद भी हनो ने हार बिलकुल भी नहीं मानी और वह लगातार मेहनत करते रहे.

उनकी कड़ी मेहनत का ही नतीजा है कि महज 6 साल में उनकी कंपनी ने 6 बिलियन डॉलर की नेटवर्थ को पार कर लिया है. आज हनो की पर्सोनियो कंपनी में 1,000 से अधिक लोग काम कर रहे हैं.

चार दोस्तों ने मिलकर शुरू करा था यह स्टार्टअप
दो मुख्य कॉलेजों के संयुक्त संस्थान, सेंटर फॉर डिजिटल टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट में अध्ययन के दौरान, हनो ने आर्सेनी वर्शिनिन, रोमन शूमाकर, और इग्नाज फोर्स्टमेयर से मुलाकात करी. इन सभी की एक ही सोच थी, चारों अपने किसी नए स्टार्टअप की शुरुआत करना चाहते थे. इसके बाद साल 2015 में इन चारों ने मिलकर जर्मनी के म्यूनिख में कंपनी पर्सोनियों की स्थापना करी.

एक समय ऑफिस भी नहीं होता था
शुरुआत में कंपनी को मध्यम स्तर पर चलाने का ही विचार था. कंपनी शुरू होने के बाद चारों दोस्तों को इसे चलाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी. उस वक्त उनका कोई ऑफिस भी नहीं होता था. इस वजह से उन्होंने कंपनी का पहला सॉफ्टवेयर उत्पाद बनाने के लिए कॉलेज में जहां कहीं भी जगह मिली वही पर ही काम करने लगे.

$500 मिलियन का जुटाया फंड
धीरे-धीरे चारों को मेहनत का फल मिलने लगा और जुलाई 2016 में, पर्सोनियो ने निवेशकों द्वारा 2.1 मिलियन यूरो का फंड जुटाया. फिर इसके बाद उनकी कंपनी की स्थिति में सुधार होने लगा. अब तक, पर्सोनियो ने निवेशकों से फंडिंग में $500 मिलियन से अधिक जुटा लिए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here