2 लड़कियों ने मिलकर अपने जबरदस्त आइडिया से शुरू किया बिजनेस, आज खड़ी कर दी करोड़ो रुपये की कंपनी

0
67

क्या आपने कभी भी यह सोचा है कि बाहर छोड़ दिये जाने वाली आवारा पशुओं से कोई करोड़ों रुपए भी कमा सकता है? ऐसा बिजनेस कीर्ति जांगड़ा और नीतू यादव ने कर दिखाया है.

ये दोनों लड़किया डेयरी फार्मिंग को लेकर एक स्टार्टअप को चला रही है जिसक नाम एनीमॉल (Animall,in) है. करीब दो साल पहले ही इन दोनों लड़कियों ने ये स्टार्टअप वीकेंड पर पार्ट टाइम के तौर पर शुरू करा था. अभी इनकी ये कंपनी एक शानदार बिजनेस में छा चुकी है. इन दोनों लड़कियों ने मिलकर अभी तक करीब 250 मिलियन डॉलर का फंड जुटा लिया है.

हरियाणा और राजस्‍थान की रहने वाली हैं दोनों लड़कियां

ये दोनों लड़कियों देश के उस हिस्से में रहती हैं, जिसमें देश के मुख्य रूप से हिंदी भाषी राज्य बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, और उत्तर प्रदेश शामिल हैं. 28 वर्षीय कीर्ति के पिता हरियाणा में सरकारी कर्मचारी हैं और राजस्थान के एक डेयरी किसान की बेटी नीतू 26 वर्ष की हैं.

आईआईटी दिल्‍ली से पूरी करी थी दोनों दोस्तों ने पढ़ाई

इन दोनों दोस्‍तों ने आईआईटी दिल्ली में अपनी पढ़ाई पूरी करी है. इन दोनों ने पोस्ट इंजीनियरिंग डिग्री करियर को जारी रखने के बजाय एक स्टार्टअप पर काम करना शुरू कर दिया था. कीर्ति जांगड़ा ने अमेरिका में मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की पढ़ाई करी हुई थी. अपने इस करियर को छोड़ के कीर्ति ने एक नए स्टार्टअप पर काम को करना शुरू कर दिया. इन दोनों दोस्तों का आइडिया यह था कि वे मवेशियों के व्यापार के लिए एक ऑनलाइन मार्केटप्लेस को शुरू करना करना चाहती थीं.

इस ऐप की मदद से कोई भी खरीद-बेच सकता है पशु

दरअसल, इन दोनों दोसत ने एक मोबाइल अप्प को लॉन्च करा है, जिसका नाम animall.in है. इस ऐप पर कोई व्यक्ति भी घर पर बैठकर पशु को खरीद सकते हैं और उन्हें आसानी से कोई भी व्यक्ति बेच भी सकते हैं. इसके साथ ही कोई भी व्यक्ति इस वेबसाइट के माध्यम से पशुओं की काफी ज्यादा जानकारी हासिल कर सकता हैं. इसके साथ ही यह वेबसाइट आपको पैसे जीतने का भी मौका देती है.

यह ऐप इस तरह से करता है काम

ये आप आपको करीब 100 किलोमीटर तक के दायरे में पशु खरीदारों और विक्रेताओं की सभी जानकारी दे देता है. इसके साथ ही आप उनसे काफी आसानी से भी संपर्क कर सकते हैं और इन पशुओं की कीमतों पर भी आसानी से बातचीत कर सकते हैं. यह ऐप साल 2019 में इन दोनों दोसत के द्वारा लॉन्च किया गया था और ये एक अग्रणी स्टार्ट अप है जो की भारत में पशु से संबंधित परामर्श सेवा और पशुओं को बेचने और खरीदने में मदद करता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here