24 साल की उम्र में शुरू किया था कारोबार, आज खड़ी कर दी 1200 करोड़ रुपये की कंपनी

0
5518

टीवी को कभी बुद्ध बॉक्स के नाम से जाना जाता था. यह बेवकूफी भरा डिब्बा पहले बहुत कम लोगों के घरों में हुआ करता था और छुट्टियों में सब एक साथ बैठकर टीवी देखते थे. बदलते समय के साथ, तकनीकी विकास तेजी से हुआ और हर घर में टीवी दिखाई देने लगे. लेकिन अगर आज की बात करें तो टीवी हर परिवार की जरूरत बन गया है.

इस जरूरत को समझते हुए एक महिला उद्यमी ने अपनी प्रतिभा से कंप्यूटर और टीवी के बीच की खाई को पाट दिया है. जी हां, आज हम बात कर रहे हैं वीयू वीयू टेलीविजन नाम की एक कंपनी की जिसने टीवी शब्द की परिभाषा ही बदल दी है. इसका सारा श्रेय वीयू टेलीविजन की संस्थापक, सीईओ और डिजाइन प्रमुख देविता सराफ को जाता है. हमने हमेशा देखा है कि कोई भी अच्छी तकनीक विदेश में बनाई जाती है और फिर भारत में आती है. लेकिन भगवान ने इस प्रक्रिया को बदल दिया है. आज उनकी कंपनी का बनाया टीवी विदेशों में भी धूम मचा रहा है.

देविता मूल रूप से मुंबई की रहने वाली हैं. उनके पिता राजकुमार सराफ जेनिथ कंप्यूटर्स के चेयरमैन हैं. देविता का मानना ​​है कि उनके पास जो भी व्यावसायिक कौशल है, वह उनके दादा से आता है. मुंबई से स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद देविता आगे की शिक्षा के लिए विदेश चली गईं. वहां से अपनी बीबीए की डिग्री पूरी करने के बाद, वह भारत आने पर अपने पिता की कंपनी में शामिल हो गईं.

वर्ष 2006 में, जब तकनीक तेजी से विकसित हो रही थी और बाहरी कंपनियां मोबाइल और कंप्यूटर के बीच की खाई को पाटने की कोशिश कर रही थीं, देविता ने कुछ नया करने का फैसला किया. और इसके लिए उन्होंने टीवी को चुना. इस क्षेत्र में, उन्होंने वीयू टेक्नोलॉजीज नामक लक्जरी टेलीविजन की एक श्रृंखला पेश की, जो टीवी और सीपीयू का एक संयोजन है.

यह टीवी वाटरप्रूफ है, डिजिटल फोटोफ्रेम के साथ-साथ टचस्क्रीन से भी लैस है. इस टीवी पर हॉटस्टार और यूट्यूब जैसे ऐप भी आसानी से चलाए जा सकते हैं. इसके अतिरिक्त, उनकी कंपनी हाई डेफिनिशन टीवी भी बनाती है जो Android पर चलते हैं. बड़ी स्क्रीन के अलावा, उनके पास कॉर्पोरेट उपयोग के लिए टीवी भी हैं. देविता का कहना है कि उनकी कंपनी की कुल बिक्री का 40 प्रतिशत कॉर्पोरेट टीवी है.

शुरुआत में देविता को कंपनी चलाने में कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ा लेकिन बाद में कंपनी ने रफ्तार पकड़ ली. 2015-16 में, VU Technology ने लगभग 2 लाख टीवी बेचे, जिससे 275.8 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ. वर्तमान में, 1 मिलियन से अधिक टीवी बेचे गए हैं और उनका वार्षिक कारोबार 1 बिलियन से अधिक है. आज पूरे भारत में उनके एक मिलियन से अधिक ग्राहक हैं और उनका टीवी 60 देशों में धूम मचा रहा है.

तुम जो कुछ भी करो, उसे बड़ा करो, देवीता कहती है. जब वह व्यापार के सिलसिले में एक व्यापारी से मिलती थी, तो लोग उसे बहुत छोटा समझते थे क्योंकि वह उस समय केवल 24 वर्ष की थी. पहले तो लोगों को उन पर विश्वास करने में समय लगा लेकिन देवी ने उनकी बातों को नज़रअंदाज कर आगे बढ़ना जरूरी समझा. उनकी प्रगति ने लोगों की मानसिकता को भी बदल दिया.

उनकी कंपनी ने पॉपस्मार्ट, ऑफिस स्मार्ट और प्रीमियम स्मार्ट जैसे कई नए युग के टीवी लॉन्च किए हैं. 2016 में देविता को उनके बेहतरीन काम के लिए बिजनेस वुमन ऑफ द ईयर का अवॉर्ड भी मिल चुका है.

इतनी कम उम्र में व्यवसाय की बारीकियां सीखते हुए देविता का सफलता का रिकॉर्ड वाकई में प्रेरणादायक है. अपडेट: Vu वर्तमान में भारत में सबसे तेजी से बढ़ते टीवी ब्रांडों में से एक है. दुनिया भर में 1.5 मिलियन ग्राहकों के साथ कंपनी का सालाना टर्नओवर 110 करोड़ है. कंपनी की वैल्यूएशन 1200 करोड़ के पार है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here