3 दोस्त, एक खतरनाक बिजनेस आइडिया; आज खड़ी कर दी 200 करोड़ रुपये की कंपनी

0
122

‘अरबन कंपनी’ के आने से बहुत से लोगों का जीवन आसान हो चूका है. घर की ‘स्वच्छता’ से लेकर ‘पर्सनल ग्रूमिंग’ तक, ‘अरबन कंपनी’ के पास हर समस्या का समाधान है. अब लोगों को घर के छोटे-छोटे कामों के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ता. ‘अरबन कंपनी’ ऐप पर बुकिंग करते ही और सारा काम कुछ ही मिनटों में हो जाता है. वो भी बिलकुल परफेक्शन के साथ.

अपने काम से ‘अरबन कंपनी’ ने लोगों का विश्वास जीता और उनके दिलों में एक खास जगह बनाई. लेकिन ये कैसे हुआ? यह कंपनी इतनी जल्दी काम की ऊंचाइयों पर किस तरह से पहुंच गई?

कब हुई थी ‘अरबन कंपनी’ की शुरुआत

‘अरबन कंपनी’ की शुरुआत साल 2014 में हुई थी. ऐप को तीन युवकों वरुण खेतान, अभिराज सिंह बहल और राघव चंद्रा ने शुरू करा था. पहले इस कंपनी का नाम ‘अरबन क्लैप’ था. इसके बाद जनवरी 2020 में इसका नाम बदलकर ‘अरबन कंपनी’ कर दिया गया.

विदेशों में भी मिल रही है कंपनी को लोकप्रियता

‘अरबन कंपनी’ न केवल भारत में बल्कि विदेशों में भी काफी ज्यादा लोकप्रिय है. यह सिंगापुर, यूएई और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में सफलतापूर्वक अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा है.

‘अरबन कंपनी’ से पहले क्या कर रहे थे तीनों दोस्त

इस कंपनी की शुरुआत 2014 में हुई थी. इससे पहले वरुण और अभिराज ‘सिनेमाबॉक्स’ नाम से एक ऑन-डिमांड मूवी स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म चलाते होते थे. वहीं राघव ऑटो राइड शेयरिंग एप ‘बग्गी’ शुरू करने की कोशिश कर रहे थे. लेकिन वे वो नहीं कर पाए जो वो करना चाहते थे. इसलिए तीनों ने साथ आने का फैसला करा और ‘अरबन कंपनी’ बनाई.

भारत में हुई सफ़ल शुरूआत

अरबन ने भारत में आते ही अपनी मार्केटिंग कर ली. लोगों को अच्छी सेवा का आश्वासन दिया और उस पर खरे भी उतरे. और अब अरबन कंपनी धीरे-धीरे देश के हर राज्य में सफलता की कहानी लिख रही है.

लोगों को कंपनी ने दिया रोज़गार

अरबन कंपनी न सिर्फ लोगों की जिंदगी आसान बना रही है, बल्कि बहुत से लोगों को रोजगार देने का भी काम कर रही है. न जाने कितने प्रतिभाशाली लोग घर पर बेरोजगार बैठे थे. ऐसे में अरबन कंपनी के आने से उन बेरोजगार लोगो को काम मिलने लगा, जो कि इंसान और देश दोनों के लिए ही एक अच्छा और तरक्की का संकेत है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here